Breaking News

स्वच्छता सर्वेक्षण- उत्कृष्ठ कार्य करने वाले अधिकारी होंगे सम्मानित

reporter 2018-07-26 229
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago

    सीहोर। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता सर्वे आयोजित होने जा रहा है। गुरुवार को जिसको लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। जिला पंचायत के सभाकक्ष में ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 की तैयारियों के संबंध में विभाग प्रमुखों के लिए कार्यशाला का आयोजन कलेक्टर तरूण कुमार पिथोड़े की अध्यक्षता में किया गया। कार्यशाला में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, स्कूल शिक्षा, स्वास्थ्य, जन अभियान परिषद, राष्ट्रीय अजीविका मिशन, महिला एवं बाल विकास तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों ने भाग लिया। कलेक्टर तरूण कुमार पिथोड़े ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमने प्रदेश में इंदौर के बाद खुले में शौच के मुक्त हाने वाले दूसरे जिले के रूप में पहचान बनाई है। अत: आवश्यकता है कि हम न केवल अपनी पहचान कायम रखे अपितु स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 में प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश में प्रथम स्थान प्राप्त करें।
    उन्होंने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में स्कूल, आंगनबाड़ी, चिकित्यालयों, हाट बाजार एवं धार्मिक स्थलों की स्वच्छता एवं ठोस, तरल अवशिष्ठ प्रबंधन का सर्वेक्षण किया जाना है। अन्य जिलों के मुकाबले हम बेहतर स्थिति में है। जिस प्रकार परीक्षा का सिलेबस प्रश्न पत्र का पेटर्न और प्रत्येक प्रश्न के लिए निर्धारित अंक पता होने पर विद्यार्थी को परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करना मुश्किल नही होता, उसी प्रकार हमें स्वच्छता सर्वेक्षण को पेटर्न उसके इंडिकेटर और उसका मूल्यांकन के लिए बिन्दुबार निर्धारित अंकों का ज्ञान है और अन्य जिलों के मुकाबले में हम बेहतर स्थिति में है अत: हमें स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 में प्रथम स्थान प्राप्त करना ही है। सभी अधिकारी विशेष रूप से शिक्षा, स्वास्थ्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग जिले को प्रथम स्थान दिलाने के लिए अपना सौ प्रतिशत योगदान दे। उन्होने इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी एसके त्रिपाठी को निर्देशित किया कि स्कूलों और आंगनबाडिय़ों में शौचालय में पानी की उपलब्धता तथा नियमित साफ-सफाई सुनिश्चित करें, अगर कोई स्कूली छात्र स्कूल के बाहर खुले में शौच करते हुए पाया जाए तो संबंधित स्कूल प्राचार्य/शिक्षक पर कार्यवाही की जाये। कार्यशाला के अंत में श्री पिथोड़े ने सभी अधिकारियों को शुभ कामनाऐं देते हुए कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में यदि जिला प्रथम स्थान प्राप्त करता है तो उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को राज्य स्तर पर सम्मानित करने के लिए अनुसंशा की जाएगी। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अरूण कुमार विश्वकर्मा ने कार्यशाला में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुये कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में जिले को उच्चतम स्थान दिलाने के लिए सभी विभागों के आपसी समन्वय से पूरे मनोयोग से कार्य करना होगा। कार्यशाला में राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर आजाद दुबे एवं स्वच्छ भारत मिशन के जिला समन्वयक विकास वघाड़े ने भी संबोधित किया।
    .

    Similar Post You May Like