Breaking News

नई व्यवस्था- गुगल एप से होगी अस्पतालों की निगरानी

reporter 2018-07-27 342
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago

    सीहोर। अस्पतालों की व्यवस्थाएं सुधारनें अब अस्पताल प्रबंधन गुगल एप की मदद लेगा। निरीक्षण करने वाले डाक्टर और अन्य अधिकारियों को एप पर फोटो अपलोड करना जरुरी रहेगा।
    शुक्रवार को कलेक्टर तरुण कुमार पिथोडे की अध्यक्षा में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने अस्पतालों की दैनिक निगरानी, सेक्टर की साप्ताहिक निगरानी, रेफरल की निगरानी तथा जिला चिकित्सालय, ट्रामा सेंटर एवं सिविल अस्पताल आष्टा में हो रही रात्रीकालीन भ्रमण की निगरानी भी गूगल एप के माध्यम से करने के निर्देश दिए। वहीं कलेक्टर ने समस्त बीएमओ, सेक्टर मेडिकल आफिसर को निर्देशित किया कि सभी माह में पांच-पांच गांव का निरीक्षण कर निर्धारित प्रपत्र में रिपोर्ट मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम से प्रस्तुत करें। ई-निरीक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत अब निरीक्षणकर्ता को ई-रिपोर्ट के साथ निरीक्षण की फोटो भी अपलोड करनी होगी जिससे पता चलेगा कि कौन, कहां और कब निरीक्षण पर गया ।
    कलेक्टर श्री पिथोड़े ने जिला क्लब फुट मुक्त होने, जनसंख्या स्थिरता माह में जिले का संभाग में प्रथम स्थान तथा प्रदेश के 10 बेहतर जिलों में शामिल होने, क्षय नियंत्रण कार्यक्रम एवं कुष्ठ उन्मूलन में उत्कृष्ट कार्य के लिए सीएमएचओ सहित संबंधित नोडल अधिकारियों एवं समस्त स्वास्थ्य अमले को बधाई दी। बैठक में समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों के जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, सिविल सर्जन, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग,जिला आयुष अधिकारी, समस्त बीएमओ, डीपीएम, सेक्टर मेडिकल आफिसर, निपी कार्यक्रम की राज्य समन्वयक, बीईई सहित समस्त जिला स्तरीय समन्वयक एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। सीएमएचओ डॉ प्रभाकर तिवारी ने बताया कि बैठक में समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों की विस्तार से समीक्षा कलेक्टर द्वारा की गई। दस्तक अभियान के अंतर्गत विटामिन ए कव्हरेज, गंभीर एनीमिया के चिन्हांकन, डायरिया नियंत्रण कार्यक्रम में लक्ष्य अनुरूप बच्चों का चिन्हांकन एवं उपचार होने पर संबंधित बीएमओ को निर्देशित किया गया कि समयावधि में लक्ष्य पूरा करें। जिला चिकित्सालय में लगे कैमरे की निगरानी के लिए प्रशिक्षित स्टाफ की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए है। जिन प्रसव केन्द्रों में प्रसव नहीं हो रहे है वहां प्रसव तत्काल प्रारंभ कराने के निर्देश दिए गए वहीं समस्त अधिकारियों कर्मचारियों को मुख्यालय पर रहने के निर्देश दिए गए। जिले के समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में ई-हास्पिटल व्यवस्था एक सप्ताह के भीतर प्रारंभ करने के निर्देश भी कलेक्टर द्वारा समस्त बीएमओ को दिए गए। सीएमएचओ डॉ.तिवारी ने बताया कि कलेक्टर ने बैठक में निर्देशित किया कि गांव में फैलने वाले बीमारियों को रोकने तथा उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग का अमला सक्रिय रहें तथा होने वाले संभावित एपेडमिक को लेकर पूर्व से सतर्क रहें। लक्षित कार्य नहीं करने वाली आशा कार्यकर्ताओं को तत्काल हटाने तथा उनके स्थान पर नवीन आशाओं की भर्ती करने के निर्देश भी कलेक्टर द्वारा दिए गए वहीं समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं में दवाओं की उपलब्धता गाइडलाईन अनुसार सुनिश्चित करने एवं संचालित समस्त साफ्टवेयर की रिपोर्ट स्वयं बीएमओ को आनलाइन देखने के निर्देश दिए गए।
    .

    Similar Post You May Like