Breaking News

covid 19- फोन पर भविष्य के अफसर तैयार कर रहे हैं ये शिक्षक दंपत्ती

कपिल सूर्यवंशीreporter 2020-04-30 586
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • आनलाइन पढाते शिक्षक दीपक सिंह और पत्नी बल्लभी।

    सीहोर। लॉक डाउन में हर वर्ग और सभी क्षेत्र प्रभावित हुए हैं। इस समय स्कूल, कालेज
    और कोचिंग संस्थान बंद हैं। विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं ऐसे में सीहोर में रहने वाले एक शिक्षक दंपत्ती प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वालों को आनलाईन निशुल्क कोचिंग दे रहे हैं। इंग्लिशपुरा क्षेत्र में रहने वाले शिक्षक दीपक सिंह और उनकी पत्नी बल्लभी सिंह टेक्नोलॉजी का सहारा लेकर जूम एप के जरीए सैकड़ों प्रतिभागियों को एक साथ प्रशासनिक सेवा परीक्षा , वन सेवा परीक्षा एमपी पीएससी, रेलवे, बैंक, पटवारी, संविदा शिक्षाकर्मी की तैयारी करा रहे हैं, वो भी बिना किसी फीस के। शिक्षक दंपत्ती ने अपने मोबाईल नंबर 9009878212, 980631980 सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित कर रखे हैं जो छात्र इन नंबरों पर कॉल करके अपना पंजीयन करा सकता है और आनलाईन कोचिंग में भाग ले सकता है।

    अन्य प्रदेश और जिलों के सैकड़ों छात्र ले रहे लाभ
    आनलाईन पढाने वाले शिक्षक दीपक सिंह ने बताया कि हमारे पास झाबुआ, इंदौर, भोपाल, छतरपुर, राजस्थान के अलवर, जयपुर, हरियाणा, छत्तीसगढ के छात्र भाग ले रहे हैं। बताया कि अभी ज्यादातर छात्र आईएएस और एमपीपीएससी के होते हैं। कुछ छात्र रेलवे और एसएससी की कोचिंग भी पढ़ रहे हैं। हमने तय किया है कि हम दोंनो मिलकर एक साल तक निशुल्क कोचिंग पढाएंगे।
    बल्लभी सिहं जो छात्र को मैथ्स, फिजीक्स और केमिस्ट्री पढा रही है ने बताया कि वह रोजाना शाम को सुबह और शाम को दो बेच लेती हैं। उन पर पारिवारिक जिम्मेदारियां भी हैं जिसमें से वक्त निकालकर वह छात्रों को आनलाइन कोंचिंग देते हैं। बताया कि हम दिनभर में एक एक घंटे के चार से पांच बेच

    लेते हैं। जबकि दीपक छात्रों को इस समय इतिहास,भूगोल, हिन्दी, करेंट अफेयर्स, विज्ञान प्रौद्योगिकी, भारत की राज व्यवस्था, आर्थिक व्यवस्था, भारत का इतिहास, जैव विविधता, समसामयिक मुददे, इकोलॉजी, इवायरमेंट, भारतीय साहित्य जैसे जरूरी विषय और टापिक पढा रहे हैं। प्रतियोगि परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें और परीक्षा लिखने का तरीका साथ ही मोटीवेशन क्लास भी ले रहे हैं।


    मॉ के सपनों को पूरा करने चुनी यह राह
    शिक्षक दीपक सिंह ने कहा कि मेरी
    मॉ का सपना है कि देश का हर बच्चा पढ़े, उनका कहना है कि देश में अनेकों बच्चे निर्धन होते हैं जिनके पास इतने पैसे नहीं होते हैं कि वह मंहगे संस्थानों में कोचिंग कर सके इसलिए उनके सपने को साकार करने के लिए हम निर्धन गरीब बच्चों को बेहतर मार्गदर्शन मिल सके, स्टडी मेटेरियल मिल सके इसलिए हम निशुल्क आनलाईन पढाते हैं।

    .

    Similar Post You May Like