Breaking News

काम बंद कर बोले वकील हमें मिले हडताल का अधिकार

reporter 2018-09-18 398
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ नारेबाजी करते वकील।

    एमपी डेस्क। मंगलवार को अधिवक्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश के खिलाफ न्यायालय का काम-काम पूरी तरह बंद कर जमकर नारेबाजी की और आंदोलन की चेतावनी भी दी। दरअसल
    बीते साल 25 अक्टूबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा अधिवक्ताओं को निर्देश दिए गए थे कि अधिवक्ता हडताल नहीं करेंगे। सुप्रीम कोर्ट के इस निर्देश के खिलाफ 18 सितंबर को बार काउंसिल मध्यप्रदेश के आव्हान पर सीहोर में अधिवक्ताओं द्वारा एक दिन के लिए कामकाज बंद रखा गया। साथ ही वकीलों ने जिला सत्र न्यायालय परिसर सीहोर में एकत्रित होकर निर्देश के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर अपना विरोध जताया। इस दौरान काम काज पूरी तरह ठप्प रहा और 300 से अधिक अधिवक्ताओं ने इसका विरोध कर एक कार्य से वरत रहे। अध्यक्ष शरद जोशी ने बताया कि बार कांउसिल ने निर्णय लिया था कि आज काम नहीं करेंगे और कोई भी वकील न्यायालय के समक्ष हाजिर नहीं होगी और जो भी वकील काम करेगा उसके खिलाफ कांउसिल कार्रवाई करेगी।
    इस मौके पर बार वरिष्ठ अधिवक्ता रामनारायण ताम्रकार ने कहा कि यह हमारे हक की लडाई है हम लडेंगे। 25 अक्टूबर को नई दिल्ली में 12 लाख वकील एकत्रित होकर इस इस फैसले का विरोध करेंगे। मांग करेंगे कि हमें हडताल का अधिकार दिया जाए।
    .

    Similar Post You May Like