Breaking News

सीएम की यात्रा में स्कूली बच्चों के हाथ में योजनाओं की तख्तियां, कांग्रेस करेगी आयोग को शिकायत

reporter 2018-10-12 595
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • जन आर्शीवाद यात्रा में योजनाओं की तख्तीयां पकडे स्कूली बच्चे।

    सीहोर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आर्शीवाद यात्रा गुुरुवार रात सीहोर जिला मुख्यालय पर पहुंची। जहां भाजपा में टिकिट के दावेदार नेताओं ने सीएम की आगवानी की। नगर के केन्द्र बिंदु माने जाने वाले बड़ा बाजार में सीएम की सभा आयोजित की गई। जिले के मेहतवाड़ा से हाईटेक रथ में सवार होकर सीएम शिवराज जावर, आष्टा होते सीहोर पहुंचे। जहां स्थानीय इंदौर नाका, नदी चौराहा, ट्रामा सेंटर, जगदीश मंदिर, कोतवाली चौराहा, पान चौराहा पर अलग-अलग नेताओं के समर्थकों ने सीएम का स्वागत किया। बडा बाजार में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभा को संबोधित किया। स्वागत के दौरान भाजपा गुटों में बंटी नजर आई जहां समर्थक अपने अपने नेताओं के पक्ष में जोरदार नारेबाजी करते दिखाई दिए। तो वहीं आदर्श आचार संहिता प्रभावशील होने के बावजूद भी निर्वाचन नियमों का खुलेआम मखौल उडते देखा गया।
    स्थानीय नेताओं ने सीएम के स्वागत में जगह-जगह मंच, स्वागत द्वार बनाए गए। जिन पर भाजपा की योजनाओं का बखान किया जा रहा था। सीएम के स्वागत में के रात के समय छोटे-छोटे मासूम स्कूली बच्चों और ग्रामीण बुजुर्ग भी घोडा गाडियों में बैठे थे। जिनके हाथों में भाजपा सरकार की योजना लाडली लक्ष्मी योजना, संबल योजना, कन्या विवाह एवं निकाह योजना, प्रधानमंत्री दीनदयाल विद्युतिकरण योजना, कृषक समृद्धि योजना की तख्तियां थी। अब बडी बात यह है कि इन मासूम स्कूली बच्चों और बुजुर्गों को यात्रा में लाया कौन। प्रदेश में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील होने के बावजूद भी इन मासूम बच्चों और बुजुर्गों के हाथों में आखिर यह तख्तियां किन लोगों ने थमाई। इस पूरे मामले में जिला कांग्रेस अध्यक्ष सीहोर रतन ङ्क्षसह ठाकुर ने कहा है कि प्रशासन सत्ताधारी दल के पक्ष में है। जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान भाजपा नेताओं द्वारा आचार संहिता का खुला उल्लघंन किया गया है। जिसकी शिकायत कांग्रेस राज्य निवार्चन आयोग में करेगी। तो वहीं एसडीएम सीहोर वरुण अवस्थी से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने कहा कि यात्रा के वीडियो देखे जाएंगे। निश्चित ही उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई होगी क्योकि आचार संहिता के दौरान किसी नेता के फोटो के साथ योजनाओं का प्रचार-प्रसार नहीं कर सकते। निष्पक्ष और पारदर्शिता के साथ चुनाव कराने की जिम्मेदार निर्वाचन विभाग की है। चुनावों को लेकर जिला प्रशासन सख्त नजर आ रहा है। आदर्श संहिता लगते के बाद ही जिला निर्वाचन अधिकारी कलेक्टर तरुण कुमार पिथोडे ने कार्य में लापरवाही बरतने पर दो कर्मचारियों को निलंबित भी किया है। तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस तो कलेक्टे्रट दीवार पर पोस्टर चिपकाने पर एक व्यक्ति के खिलाफ थाना कोतवाली में एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। अब जब यात्रा में भाजपा नेताओं के समर्थकों द्वारा हाथों में योजनाओं की तख्तीयां से प्रचार किया तो अब चुनाव अधिकारी सीएम की जनआर्शीवाद यात्रा में पोस्टर, बैनर और तख्तीयों पर प्रचार-प्रसार किए जाने पर किस प्रकार से संज्ञान लेते हैं यह देखने योग्य होगा।
    .

    Similar Post You May Like