Breaking News

सूदखोरों की धमकियों से परेशान ढाबा संचालक ने खाया जहर, हालत गंभीर, एसपी से शिकायत

reporter 2020-09-23 314
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • अस्पताल में भर्ती ढाबा संचालक।

    सीहोर। जिले में सूदखोरों का धंधा खूब फल फूल रहा है, लोगों को ब्याज के जाल में फंसाकर मनमानी राशि बसूल रहे हैं तो वहीं दूसरी और कर्ज में फंसे लोग मानसिक तनाव से जूझते हुए आत्महत्या जैसे कदम उठाते को मजबूर हो रहे हैं। सूदखोरों की धमकी से परेशान होकर सोमवार को ढाबा संचालक एक युवक ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया, युवक की जान बच गई लेकिन गंभीर हालत में भोपाल के एक निजी अस्पताल में भर्ती है।

    युवक के पिता ने एसपी शशीन्द्र चौहान से सूदखोरों की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।
    बढियाखेडी निवासी ढाबा संचालक मोहित राय ने सोमवार को ब्याजखोरों की धमकियों से परेशान होकर जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। मोहित के पिता बाबूलाल राय ने सीहोर एसपी शशीन्द्र चौहान को लिखित आवेदन देकर बताया कि उसके बेटे ने आवश्यता के लिए बढियाखेडी के चार युवकों से रूपए उधार लिए थे। मोहित छह माह में मूल रकम से दुगना ब्याज दे चुका है लेकिन इसके बावजूद भी उक्त युवक चोगुना ब्याज मांग रहे हैं। बताया कि लाक डाउन में ढाबा बंद था और काम नहीं चला इसलिए पूरा परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा है लेकिन सूदखोर युवक रोजाना ढाबे पर आकर मेरे बेटे को डराते धमकाते थे और ढाबा का सामान उठाने की धमकी देते थे। उसे मानसिक रूप से परेशान करते थे। जिससे तंग आकर उसने सोमवार को जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। पीडित के पिता ने एसपी से मांग की है कि सूदखोरों से उसे बचाया जाए।

    बिना लाईसेंस के मनमानी रकम बसूलते हैं सूदखोर
    पूर्व में तत्कालिन सीहोर एसडीएम
    राजकुमार खत्री ने बिना लाईसेंस के ब्याजखोरी करने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर कर्ज में फंसे लोगों को मुक्ति दिलाई थी। उनके तबादले के बाद लंबे समय से सूदखोरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। इन हालातों में बिना साहूकारी लाईसेंस के कई लोग सूदखोरी कर मनमाना ब्याज बसूल रहे हैं।
    मामले में सीएसपी तुषार सिंह का कहना है कि मेरे संझान में ऐसा मामला नहीं आया है। आवेदन मिलने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

    .

    Similar Post You May Like