Breaking News

गांव-गांव फैला अवैध शराब का नेटवर्क- पुलिस ने 77 अड्डों पर छापा मारा

reporter 2020-10-24 615
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • पुलिस गिरफ्त में अवैध शराब के आरोपी।

    सीहोर। जिले में अवैध शराब का नेटवर्क गांव-गांव फैला है जिम्मेदार विभाग की अनदेखी और लापरवाही के चलते दूरस्थ्य अंचलों में अवैध शराब का व्यापार फल फूल रहा है।
    और इसे ध्वस्त करने के लिए अब पुलिस सतत अभियान चलाकर कार्यवाही कर रही है। एक सप्ताह में पुलिस ने अवैध शराब अड्डों पर छापामार कार्यवाही करते हुए 77 प्रकरण दर्ज कर 77 लोगों को आबकारी एक्ट के तहत सलाखों के पीछे पहुंचाया।
    जिले के अलग-अलग थानों में यह कार्यवाही की गई है। आश्चर्यचकित बात यह है कि सीएम शिवराज ङ्क्षसह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुधनी-नसरूल्लागंज के गांवों में सबसे अधिक माफिया सक्रिय है जहां पुलिस ने 25 से अधिक प्रकरण बनाए हैं।

    किस थाने में कितने प्रकरण
    एसपी एसएस चौहान ने बताया कि 16 से 23 अक्टूबर एक सप्ताह में जिलेभर में कुल 77 प्रकरण बनाकर आरोपियों को 34 आबकारी एक्ट के तहत जेल भेजा गया।
    थाना कोतवाली सीहोर 5, मंडी 8, दोराहा 4,इछावर 3, जावर 12,रेहटी 3,शाहंगज 10,गोपालपुर 3, अहमदपुर 1,श्यामपुर 3, थाना बिलकिसगंज 4, आष्टा 3, सिद्दिकगंज 3, बुधनी 7, नसरूल्लागंज 5 और थाना पार्वती में 4 प्रकरण दर्ज किए गए।

    बताया कि 113.3 लीटर देशी शराब, 298.5 ली कच्ची शराब महुआ जप्त की गई है।

    स्प्रिट की जांच कर रहा दल
    उज्जैन घटना के बाद सीहोर कलेक्टर अजय कुमार गुप्ता ने स्प्रिट की जांच के लिए राजस्व, आबकारी और खाद्य एंव औषधी प्रशासन विभाग का एक दल गठित किया है जो मेडिकल स्टोर पर स्प्रिट के क्रय-विक्रय की जानकारी जुटा रहा है।

    फिसड्डी साबित हो रहा आबकारी विभाग

    अवैध शराब माफिया को रोकने में आबकारी विभाग पूरी तरह से फेल साबित हुआ है। एक और जहां पुलिस ने बडी मात्रा में शराब के प्रकरण बनाए तो वहीं आबकारी विभाग स्टाफ का रौना रोता है। अब ऐसे में विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं।
    इस संबंध में जब जिला आबकारी अधिकारी कीर्ति दुबे से बात हुई तो उनका कहना है कि पर्याप्त संसाधनों और बेहद कम स्टाफ में विभाग निरंतर कार्यवाही करता है। सूचना मिलने में टीम तत्काल कार्यवाही करती है। एक सप्ताह में करीब 25 प्रकरण बनाए गए हैं।

    .

    Similar Post You May Like