Breaking News

कार्यकारिणी की देरी ने गिराया कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मनोबल !

reporter 2020-12-24 270
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • पर्यवेक्षक से चर्चा करते नेता।

    सीहोर। इस कडाके की सर्दी में भी सियासी पारा गर्म बना है। निकाय चुनावों को लेकर राजनीतिक दल सक्रिय हैं और जमीनी स्तर पर तैयारियां शुरु हो गई हैं। नगरीय निकाय चुनावों के लिए आरक्षण प्रक्रिया संपन्न होने के बाद से हलचल बढ गई है। नगरपालिका अध्यक्ष और वार्ड पार्षद पद के लिए टिकट दावेदार अपनी उम्मीवारी पेश कर रहे हैं। कांग्रेस में चुनावों को लेकर अलग-अलग समीतियां गठित हो गई हैं। लेकिन कांग्रेस जिला कार्यकारिणी घोषित न होने से कार्यकर्ता हतोत्साहित हैं।
    उम्मीद जताई जा रही है कि प्रदेश में जनवरी-फरवरी माह में निकाय चुनाव हो सकते हैं। ऐसे में जिला कार्यकारिणी की घोषणा न होने से कांग्रेस के मैदान कार्यकर्ता असमंजस की स्थिति में हैं जिनके पास अभी कोई जिम्मेदारी नहीं है और वह आखिर क्या करें।

    लंके समय से नहीं हो सकी घोषण
    लोकसभा चुनावों के समय कार्यकारिणी घोषित होने वाली थी लेकिन मतगणना के दौरान जिलाध्यक्ष ठाकुर रतन सिंह की हदयाघात से मौत हो गई थी और कार्यकारिणी घोषित नहीं हुई। जिसके बाद बलवीर तोमर को जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया। नियुक्ति के सात माह बाद भी अध्यक्ष तोमर कार्यकारिणी घोषित करने में अक्षम रहे। जिसको लेकर कई कार्यकर्ताओं को पदाधिकारियों में नाराजगी भी है।

    चुनावों में हो सकता है घाटा
    अनेकों कार्यकर्ता कार्यकारिणी में पद पाने के लिए उत्साहित हैं। जिनका ऐसा मानना है कि पद के साथ जिम्मेदारी मिलने से कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार होगा और वह जिम्मेदारी के साथ चुनाव में पार्टी के लिए काम करेंगे। जिसका कांग्रेस प्रत्याशियों को भी

    लाभ मिलेगा। एक तो प्रदेश में सरकार जाने से कार्यकर्ता पहले से ही हतोत्साहित है। जमीनी कार्यकर्ताओं को महत्वपूर्ण पद मिलते हैं तो वह भरपूर ऊर्जा के साथ पार्टी कार्य में जुट जाएंगे।

    बनी रखी है सूची, घोषणा का इंतजार
    कांग्रेसी सूत्रों कि माने तो कार्यकारिणी बनकर तैयार है। यह मिनी कार्यकारिणी होगी सूची में 60- से 70 नाम शामिल किए गए हैं। जिसमें उपाध्यक्ष, महामंत्री, सचिव, प्रवक्ता और कोषाध्यक्ष पद की घोषणा हो सकती है। .

    Similar Post You May Like