Breaking News

ट्रैक्टर रैली लेकर विधानसभा घेरने निकले सज्जन वर्मा को पुलिस ने रोका

कृष्णा पांडेयreporter 2020-12-27 194
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा।

    सीहोर। नए किसान कानून के विरोध में दिल्ली बोर्डरों पर
    बीते एक माह से किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस भी कानून के खिलाफ है और खुलकर किसानों के समर्थन में है। किसानों के समर्थन में पूर्व मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा रविवार को सीहोर के बाल विहार मैदान से बड़ी संख्या में ट्रैक्टर रैली के साथ भोपाल विधानसभा घेराव के लिए निकले थे, लेकिन पुलिस प्रशासन ने सैकड़ाखेड़ी मार्ग पर वर्मा व किसानों को रोक दिया। इस दौरान कांग्रेसी व प्रशासन के बीच तीखी नोक-झोक भी हुई। वर्मा ने कहा कि यदि गलत कर रहा हूं तो गिरफ्तार करो। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लेकिन पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रैक्टर रैली को आगे नहीं जाने दिया। ट्रैक्टर रैली को रोकने के लिए पुलिस ने पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। सेकड़ाखेड़ी मार्ग और कई जगह बेरिगेट्स लगा कर जवान खड़े कर दिए गए थे। प्रदर्शन के कारण करीब आधे घण्टे मार्ग बाधित रहा।

    कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि यह किसान मार और तानाशाह सरकार है। किसान एक माह से इस कड़कड़ाती सर्दी में कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री सुनने को तैयार नहीं और जब हम किसानों के समर्थन में आवाज उठा रहे है, तो हमें रोका जा रहा है।


    मीडिया से चर्चा के दौरान श्री वर्मा ने कहा कि सीहोर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का जिला है। सीएम के इशारे पर हम लोगों को किसान आंदोलन के समर्थन में भोपाल नहीं जाने दिया जा रहा है। आज देश का किसान 1 महीने से दिल्ली की सड़क को घेरकर कड़कड़ाती ठंड में बैठा है, लेकिन इस देश का प्रधानमंत्री तानाशाह है। नरेंद्र मोदी उसका नाम है। वह कहता है कि मैंने किसानों के हक में बिल बनाया। किसान कहते हैं कि यह बिल लागू हो गया तो हम आत्महत्या की तरफ जाएंगे। माननीय नरेंद्र मोदी जी, शिवराज चौहान जी किसानों के मामले में किसानों का कहना है कि हम आपसे ज्यादा विद्वान हैं। हम जो बोले वह कानून बनाओ। आपने तो अडानी और अंबानी के कहने पर यह तीन काले कानून का मसौदा बना दिया।

    तानाशाह प्रधानमंत्री किसानों की बात नहीं मान रहा है। इसलिए कांग्रेस के लोग चारों तरफ से सड़क पर निकल चुके हैं। भोपाल के आसपास सैकड़ों की तादत में हमारे ट्रैक्टर रोक दिए गए हैं। मेरी सर्वदलीय बैठक विधानसभा के अंदर हैं। स्पीकर के चेंबर में। मैं जाकर स्पीकर से बोलूंगा शिवराज सिंह भी मौजूद रहेंगे, वहां पर यह बताउंगा कि यह तानाशाह सरकार है। किसान मार सरकार है। यह आंदोलन किसान की मांग जब तक नहीं मानी जाएगी तब तक कांग्रेस सड़कों पर खड़ी रहेगी।

    हमारी भूमिका क्या होना चाहिए, हमें आता है विपक्ष का धर्म

    श्री वर्मा भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गी को लेकर कहा कि इस पाखंडी कैलाश से पूछ लो। विपक्ष में हम हैं। हमारी भूमिका क्या होनी चाहिए।वह अंधा हो गया क्या। हम विपक्ष के लोग जनहित के मुद्दों पर यदि जनता के साथ हैं खड़े नहीं होंगे, तो हमारे विपक्ष होने का धर्म खत्म हो जाएगा। हम अपना धर्म जानते हैं। पुलिस प्रशासन शिवराज का हथियार बन कर काम कर रहा है, जो हमें भोपाल जाने से रोक रहा है। भाजपा पार्टी का प्रशासन हथियार बना हुआ है। शांतिपूर्वक जुलूस था। हम भोपाल की तरफ कूच कर रहे थे पर हमें उन्होंने जाने नहीं दिया। खुद के बड़े-बड़े कार्यक्रम हो रहे हैं। कोरोना नहीं दिख रहा। शिवराज को। कल भी 5000 लोगों के साथ भाजपा कार्यालय का उद्घाटन किया। पुलिस नहीं पहुंची। कांग्रेस के लोग किसान के समर्थन में जाएंगे तो हमें गिरफ्तार किया जाएगा। यह किसान मार सरकार है। ट्रैक्टर रैली को जब भोपाल की ओर कूच होने से रोका गया, तो कांग्रेस कार्यकर्ता ने जमकर नारेबाजी की। इस दौरान कार्यकर्ता व पुलिस के बीच बहस भी हुई। इसके बाद पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा निजी वाहन से भोपाल जाने की इजाजत दे दी गई, लेकिन ट्रैक्टर रैली काे रोक लिया गया। इस दौरान श्री वर्मा के साथ जिलाध्यक्ष बलवीर तोमर, पूर्व विधायक शैलेन्द्र पटेल, राकेश राय, यूथ कांग्रेस सचिव राजीव गुजराती, विवेक राठौर, राहुल यादव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे।
    .

    Similar Post You May Like