Breaking News

एक माह से लापता बालिका, दबंग दे रहे पीडित परिवार को धमकी

reporter 2021-01-09 422
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago

    सीहोर। गुमशुदा और अपह्त बालिका दस्तयाब अभियान पुलिस द्वारा चलाया जा रहा है। पुलिस के आला असफर अभियान को लेकर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं लेकिन अभियान में पुलिस की भूमिका को लेकर सवाल उठ रहे हैं। बीते एक माह से गुमशुदा नाबालिग बेटी की तलाश में परिजन विभागों के चक्कर काटने को मजबूर हैं। कभी थाना तो कभी पुलिस के आला अफसर के सामने बेटी को खोजने के लिए गुहार लगा रहे हैं। लेकिन सुनवाई नही हो रही है बल्कि पीड़ित परिवार को ही दबंग डरा धमका कर रिपोर्ट वापस लेने के लिए दबाव बना रहे हैं।

    मामला दोराहा थाना के तहत आने वाले ग्राम आमरोद का है जहां पीडित परिजनों ने पुलिस अधीक्षक सीहोर को लिखित आवेदन देकर बताया है कि 11 दिसंबर को उनकी नाबालिग बेटी घर लापता है। जिसकी शिकायत उन्होंने दोराहा थाना में दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस उनकी बेटी की तलाश नहीं कर रही है। पीडित परिवार ने आरोप लगाते हुए बताया कि ग्राम के ही विवेक धाकड नामक एक युवक उसकी बेटी का अपहरण कर ले गया है। जिसका साथ ग्राम के ही अशोक और विनोद मेवाड दे रहे हैं। जिनकी जानकारी उन्होंने थाने में दी लेकिन पुलिस उसे तलाश नहीं करती बल्कि बार बार उन्हें थाने बुलाकर पूछताछ करती है और अभ्रदतापूर्वक व्यवहार करती है। अशोक और विनोद आए दिन उसके परिवार को धमकी दे रहे हैं और बोल रहे हैं कि यदि शिकायत वापस नहीं ली तो हम तेरी दूसरी बेटी को भी उठवा देंगे। पीडित परिवार का कहना है कि उन्हें जान का खतरा है एसपी से सुरक्षा प्रदान करनी की मांग उठाई है। 

    इस मामले में दोराहा टीआई केजी शुक्ला से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उनका कहना है कि सर्चिंग जारी है।
    आरोपी के परिजन और दोस्तों से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस अपना काम ईमानदारी से कर रही है। आरोप बेबुनियाद हैं।


    .

    Similar Post You May Like