Breaking News

मिलावटी नमकीन और डेयरी संचालक पर एफआईआर, भेजा जेल, जिलाबदर का प्रस्ताव

reporter 2021-01-29 225
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • खाद्य पदार्थों के सेंपल लेती अधिकारी।

    सीहोर। मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत जिलेभर में खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा खादय पदार्थों के नमूने लेकर परीक्षण के लिए भेजे जा रहे हैं।

    नमूने फेल होने पर प्रशासन ने बडी कार्यवाही करते हुए दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें भेज भेजा है।
    नमकीन का नमूना फेल होने पर चन्द्रप्रकाश इंडस्ट्रीज के संचालक चन्द्रप्रकाश असनानी और दूध का नमूना फेल होने पर डेयरी संचालक सुरेश राठौर के खिलाफ मंडी थाना में प्रकरण दर्ज कर भेज भेजा गया है।
    मंडी थाना प्रभारी मनोज मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि राठौर डेयरी संचालक सुरेश राठौर जिसका दूध का सेंपल फेल हुआ है और हानिकारक कपास तेल से नमकीन बनाने वाले चन्द्रप्रकाश असनानी के खिलाफ 19/2021 धारा 272,273, 59(1) खादय अपमिश्रण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में चालान प्रस्तुक होने के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।
    चन्द्रप्रकाश असनानी के खिलाफ 2016 में भी प्रकरण दर्ज कर जुर्माना हुआ था।
    जिस पर मारपीट के मुकदमें भी दर्ज हैं। उक्त आरोपी के खिलाफ जिलाबदर की कार्यवाही प्रस्तावित कर पुलिस अधीक्षक समक्ष प्रस्तुत की है।


    .

    खाद्य एवं औषधि प्रशासन अधिकारी भावना ठाकुर ने बताया कि 9 नवंबर 2020 से 27 जनवरी तक कुल 181 नमूने जिलेभर से लिए गए। लेब से 42 की रिपोर्ट आई है जिनमें से 10 सेंपल फेल हुए हैं। पेडा- सरकार रेस्टोरेंट अहमदपुर, मलाईबर्फी- राजस्थान मिष्ठान बुधनी, मिश्रित दूध- मार्डन डेयरी आष्टा, दूध, मिल्क पावड- गोल्डन डेयरी आष्टा, मिश्रित दूध- श्रीराम डेयरी आष्टा के नमूने फेल हुए हैं। भावना ठाकुर ने बताया कि वर्ष 2020 में कोर्ट प्रकरणों में 4 लाख 6 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया।

    खादय एवं औषधि प्रशासन विभाग ने कुल 181 सेंपल कलेक्ट किए जिसमें से 10 फेल हुए और दो लोगों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किए गए हैं।

    हानिकारक कपास तेल से नमकीन बनाने वाले चन्द्रप्रकाश असनानी के खिलाफ मंडी थाना पुलिस ने जिलाबदर की कार्यवाही प्रस्तावित की है।

    Similar Post You May Like