Breaking News

राष्ट्रीय बौद्ध महासभा|समतामूलक समाज के लिए संविधान को सुरक्षित रखना जरूरी

reporter 2019-09-24 93
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • कार्यक्रम में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को सम्मानित किया गया।

    सीहोर। राष्ट्रीय बोद्ध महासभा के तत्वाधान में रविवार को पांचवा वार्षिक आयोजन एवं प्रतिभा सम्मान समारोह नगर के स्थानीय बाबा साहब अम्बेडकर धर्मशाला में आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि इंजि.किशोर बोद्ध, एवं आर.के. बांगरे द्वारा बाबा साहब अम्बेडकर एंव तथागत बुद्ध व अन्य महापुरुषों के छायाचित्र पर पुष्प अर्पित कर व केण्डल प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इसके बाद बुद्धवन्दना का आयोजन किया गया।
    इसके पश्चात सदन को राष्ट्रीय आचार्य ने संबोधित करते हुए कहा कि संविधान विरोधी ताकतें देश में बढ़ती जा रही है, जो संविधान को खत्म करना चाहती है। देश में समता मूलक समाज की स्थापना के लिये संविधान का सुरक्षित रहना अति आवश्यक है। कार्यक्रम में सेवा निवृत्त कर्मचारी अधिकारी अमरसिंह आर्य, शिक्षक हरिराम शाक्य, नारायण सिंह शाक्यवार, हरिनारायण हिण्डोलिया को प्रशस्ति पत्र एवं पुष्पमाला पहनाकर सम्मान किया गया। प्रतिभावान छात्र-छात्राओं में प्राची खुराना ने कक्षा 10 वी में 95.6 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर, निपुण शाक्य, आरती मनोरिया, मनोज सगर, आस्था दिनकर के द्वारा 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर उनको प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम में कमलेश दोहरे, दिनेश गेहरवाल, केवल राम सोनिया, राजेश जांगड़े , डी.बी.बड़ोदिया, सुन्दरलाल हिण्डोलिया, सुरेश मालवीय, हरिओम जाटव, गिरधारीलाल मालवीय, धनराज थरेले, कुन्जीलाल शाक्य, देवेन्द्र दोहरे, कमल कीर, जे.पी.पेठारी, सुरेश जांगड़े, पवन सूर्यवंशी, विजेन्द्र सूर्यवंशी, धर्मेन्द्र चौहान, कुमेरसिंह चौहान, आर.डी. पंचम, शिव खुराना सहित बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित रहे।
    .

    Similar Post You May Like