Breaking News

खुशखबरी- ई-विद्या केन्द्र का शुभारंभ, छात्रों को मिली 60 हजार ऑनलाइन बुक की सागौत

reporter 2018-08-02 996
  • share on whatsapp Buffer
  • kissaago
    • ई-विद्या केन्द्र का शुभारंभ करते कलेक्टर तरुण पिथोड़े।

    सीहोर। आधुनिक दौर में तेजी से शिक्षा पद्धती भी बदलती जा रही है। इंटरनेट क्रांति आमजन के जीवन में बदलाव लेकर आई है और इससे कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं। ऐसे में जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग के सहयोग से जिला पुस्तकालय को ई-विद्या केन्द्र एवं प्रोजेक्ट रोशनी के रूप में एक सौगात देते हुए कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े ने ई लाईब्रेरी का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में एसडीएम वरूण अवस्थी, मोहिनी फाउनडेशन के निर्देशक डॉ विजय व्यास तथा आईडिया सेलुलर उप महाप्रबंधक अतुल दुबे उपस्थित थे। स्वागत उद्बोधन प्राचार्य उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सीहोर आरके बांगरे ने दिया।
    मोहिनी फाउंडेशन एवं आईडिया सेलुलर लिमिटेड के संयुक्त प्रयास एवं स्कूल शिक्षा विभाग के सौजन्य से जिले के युवाओं एवं बेरोजगारों के लिए संपूर्ण विश्व की जानकारी एक क्लिक पर उपलब्ध हो जायेगी। प्रोजेक्ट की जानकारी देते हुए अनुविभागीय अधिकारी वरूण अवस्थी ने बताया कि इसमें 45 हजार से अधिक गणित, विज्ञान के अलावा अन्य विषयों से संबंधित ई-बुक उपलब्ध रहेंगी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि द्वारा ई विद्या केन्द्र का शुभारंभ एक क्लिक के माध्यम से किया तथा प्रोजेक्ट रोशनी के बेनर का विमोचन फीता काटकर किया गया। कलेक्टर तरूण कुमार पिथोडे ने अपने प्रयासों से छात्र-छात्राओं के लिए जिला प्रशासन की ओर से दो कम्प्यूटर, पुस्तकालय में उपलब्ध करायें है इन कम्प्यूटरों पर छात्र एवं छात्राऐं जिनके पास एंड्राईड मोबाईल की सुविधा उपलब्ध नहीं है वह विश्व के किसी भी विषय की जानकारी इन कम्प्यूटर के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। छात्र-छात्राओं के लिए जिला पुस्तकालय में फ्री वाई-फाई जोन उपलब्ध कराया गया है। जिसके माध्यम से ई-विद्या केन्द्र की स्थापना की गई। इसमें ओपन मीडिया लगाया गया है, जिसमें विद्यार्थी अपने स्मार्ट फोन लेपटाप एवं लैब के कम्प्यूटर पर वाईफाई से जोड़कर विकीपिडिय़ा, क्रीज एकेडमी एनआरआईआई विडियों कम्प्यूटर में प्रयोगशाला ओपन मैप डिजीटल रूप में देख सकेंगे। साथ हीं ई बुक गणित विज्ञान एवं हिन्दी भाषा एवं सरकारी योजना की जानकारी रोजगार उन्मुख युवाओं के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी की संपूर्ण सामग्री उपलब हो सकेगी।
    शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को डिजिटल साक्षरता का एवं बस, रेलवे, ऑनलाईन टिकिट बुकिंग, आनलाईन बैंकिग का प्रशिक्षण दिया जावेगा। डिजीटल इंडिया की मुख्य धारा मे शहरी एवं ग्रामीण महिलाऐं अपना योगदान दे सकेगी।
    .

    Similar Post You May Like